एक बच्चे की मासूम सहृदयता का ये वीडियो आपको आँखों में आँसू ला देगा

सिर्फ अपने, और अपने अपनों के लिए करते रहने की प्रवृत्ति आजकल समाज पर
कुछ ऐसी हावी हो चुकी है कि हमने दूसरों के दुःख, कष्टों की ओर देखना ही
छोड़ दिया है. जबकि हकीकत ये है कि सच्चा सुख अपनी भलाई करने में न होकर
दूसरों की भलाई करने में निहित होता है. तुलसीदास जी ने भी लिखा है –
“परहित सरिस धरम नहिं भाई”.
खैर, इसी “परहित” की विषयवस्तु पर आधारित ये एक छोटा सा वीडियो है जो
आपके हृदय को करुणा से ओतप्रोत तो करेगा ही, साथ आपको किसी जरूरतमंद की मदद
करने के लिए प्रेरित भी करेगा –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: