अगर समलैंगिकता मानसिक विकृति है तो शास्त्रों में 8 जगहों पर इसका वर्णन क्यों है

भारतीय दंड संहिता का सेक्शन 377, जिसके अंतर्गत आपसी सहमति से बने समलैंगिक संबंध आपराधिक थे, अब आपराधिक नहीं रहेंगे.

Read more