एक प्रोफ़ेसर ने गरीब बच्चों की शिक्षा के लिए ट्रेनों में मांगी भीख और जुटा लिए 50 लाख से अधिक रुपये

हिम्मत-ए-मर्दा तो मदद-ए-खु़दा’ कहते हैं अगर किसी काम को हिम्मत से किया जाए, तो ऊपर वाला भी उस काम में

Read more